/ / गलें में खराश: लक्षण, कारण और उपचार (Sore Throat in Hindi)

गलें में खराश: लक्षण, कारण और उपचार (Sore Throat in Hindi)

Sore Throat in Hindi: गले में खराश होना एक आम समस्या है। अधिकांश गले में खराश वायरल संक्रमण (viral infection) के कारण होते है, जो खांसी या सर्दी (cough or cold) के कारण हो सकते है। आपको गलें में खरास, खांसी, हल्का दर्द, बुखार के अलावा, निगलने में कठिनाई हो सकती है।

Sore Throat: symptoms causes treatment in hindi
Sore Throat

In this article, we will discuss:-

  • What is sore throat?
  • symptoms of sore throat.
  • What is the most common cause of sore throat?
  • How to Get Rid of A Sore Throat?

गलें में खरास क्यों होता है? | What causes sore throat in Hindi

Causes of sore throat: गले में खराश (sore throat) आमतौर पर वायरल संक्रमण के कारण होता है, और अक्सर सर्दी या फ्लू के साथ विकसित होता है। यह मोनोन्यूक्लिओसिस (Mononucleosis) का एक लक्षण भी हो सकता है। गलें में खरास होने के प्रमुख कारण निम्न है-

  • सर्दी, संक्रमण।
  • एलर्जी, धुम्रपान।
  • रासायनिक धुँआ, प्रदूषण।

गलें में खरास के लक्षण | Symptoms of sore throat in Hindi

  • गले में खराश होना।
  • खाने पिने की वस्तु निगलने पर दर्द।
  • हल्का बुखार या हरारत होना।
  • सूजी हुई गर्दन की ग्रंथियां (neck glands)
  • कर्कश आवाज या स्वरयंत्रशोथ (Laryngitis)
  • लाल गला या टॉन्सिल (tonsils)

यदि गलें में खरास टॉन्सिलिटिस के कारण है, तो आपके टॉन्सिल बढ़े हुए होंगे और उन पर मवाद भी हो सकता है खाना खाते या पानी पीते समय गलें में अधिक चुभन महससू होगी।

आप खुद क्या कर सकते हैं | What you can do yourself

  • काफी आराम करें।
  • कम से कम कम 8 गिलास पानी पिएं।
  • एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक डालकर 30 सेकंड के लिए गरारे करें, फिर इसे थूक दें।
  • खट्टे चीजों से बचें क्योंकि वे अम्लीय होते हैं और आपके गले में जलन पैदा कर सकते हैं
  • बिना नुस्खे वाली दर्द की दवा का प्रयोग करें।
  • बच्चों को स्पिरिन नहीं लेनी चाहिए।
  • अल्कोहल युक्त माउथवॉश का प्रयोग न करें।
  • बहुत ज्यादा बात करने या अपनी आवाज को दबाने से बचें।
  • धूम्रपान बंद करें और धुएँ से बचें।
  • वातावरण में समय बिताने से बचें क्योंकि इससे आपके लक्षण और भी बदतर हो जाएंगे।
  • रोजाना 4 से 5 बार 30 मिनट के लिए गर्म सेक लगाएं।

गलें में खरास के घरेलू उपाय | Home Remedies / Treatment for Sore Throat

  1. शहद और नींबू: शहद अपने नेचुरल एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीजऔर नींबू में विटामिन सी होने के कारण, यह आपके इम्यूनिटी को बड़ा आपको इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता हैं। अगर आप गुनगुने पानी में नींबू और शहद मिलाकर लेंगे तो आपके गले को आराम मिलेगा।
  2. अदरक, काफी फायदेमंद: अदरक में एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज होते हैं. यह गले में खराश पैदा करने वाले पैथोजेन को रोकने में मदद कर सकते हैं. आप अदरक का टुकड़ा टॉफी की तरह चूस सकते हैं।
  3. हल्दी वाला दूध: रात में सोते समय चुटकी भर हल्दी को रम दूध में हल्दी मिला कर पी जाएं. हल्दी में होने वाले एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज गले में सूजन और दर्द कम करने में सहायक हैं।

यदि आपको तेज दर्द, बुखार, खाना निगलने में बहुत कठिनाई होती है, तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। ज्यादातर मामलों में आपका गला 1 सप्ताह या उससे कम समय में ठीक हो जाएगा।

You Just read- Sore Throat in Hindi

4.2/5 - (68 votes)