/ / एलर्जी (Allergy) | Types, Symptoms & Treatment in Hindi

एलर्जी (Allergy) | Types, Symptoms & Treatment in Hindi

Girl Sneezing

In this article, we will discuss:-

  • What is allergy?
  • Types of Allergies?
  • Causes & symptoms of Allergy?
  • Prevention & Treatment of Allergy?

एलर्जी क्या है? (What is Allergy)

एलर्जी (Allergy) हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति की कुछ बाहरी तत्वों, जैसे पराग, कण, धूल, भोजन इत्यादि के प्रति अस्वाभाविक प्रतिक्रिया का नाम है। पूरे विश्व में यह रोग तेजी से फैल रहा है। और पढ़ेंरोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं?

आजकल युवा एवं बाल्यावस्था में भी ऐलर्जी रोग देखने में आता है। ऐलर्जी प्रतिक्रिया करने वाले तत्वों को ऐलर्जेन कहा जाता है। यह ऐलर्जेन या ऐलर्जी पैदा करने वाले तत्व वास्तव में कोई हानिकारक किटाणु या विषाणु नहीं बल्कि हानिकारक तत्व होते है, जैसे गेहू, बादाम, दूध, पराग, कण या वातावरण में मोजूद कुछ प्राकृतिक तत्व है।

यही कारण है कि सभी लोग को यह हानी नहीं पहुंचाते। एक ही घर में एक ही प्रकार के वातावरण से एक व्यक्ति को ऐलर्जी होती है तो दूसरे को नहीं।

एलर्जी के कारण (Causes of Allergy)

कीट (Insect Allergy ) – घर में छोटे छोटे कीड़े या काक्रोच के काटने से भी त्वचा एकदम लाल होकर फूल जाती है। उल्टी या बुखार भी आ सकता है।

खाना (Food Allergy)- कुछ लोगों को खाने की चीज़ों (जैसे की मूंगफली, बादाम, दूध, टमाटर, मछली, अंडा या बाजार में केमिकल युक्त भोजन) से भी एलर्जी होती है। खुजली, जी मचलना, दाने निकलना भी हो सकते हैं। और पढ़ें- खाना खाने कर बाद न करें ये काम

खुशबू (Fragrance Allergy) – सुन्दर दिखने के लिए प्रयोग में आने वाली चीज़ों (पाउडर, शैम्पू, परफ्यूम, कैंडल्स, साबुन इत्यादि) के प्रयोग से भी कुछ लोगों को सर दर्द, जी मचलना या नाक में परेशानी होती है।

जानवर (Pet Allergy)- पालतू जानवरों के बाल, रूसी, की लार से भी कुछ लोगों को गंभीर परेशानी होती है। और पढ़ें- पालतू जानवरों से होने वाली एलर्जी

पराग कण / घास (Pollen /Grass Allergy) – कई बार घास, पेड़-पौधे, फूल, और उनके छोटे कण भी मौसमी एलर्जी (खुजली, छींक, आँखों में जलन इत्यादि) जैसी समस्या करते हैं।

एलर्जी के प्रकार और लक्षण (Types & Symptoms of Allergy)

नाक की एलर्जी- इसके लक्षणों में बार बार जुकाम होना, नाक में खुजली, नाक बहना, लगातार छींक, नाक बंद होना आदि शामिल है।

त्वचा की एलर्जी– त्वचा की एलर्जी काफी आम है। ये बारिश में ज्यादा होती है। इसमे खुजली, लाल चट्टे दाने, पित्ती उछलना हो सकता है।

आँख की एलर्जी- आँखों से आँखों में जलन और खुजली होना।

फेफड़ों की एलर्जी- खांसी, सांस में तकलीफ, फेफड़ों में कफ, अस्थमा या सांस विचलित होना।

खाने पीने की चीजों के एलर्जी- काफी लोगों को खाने-पीने की चीजों (अंडा, मछली, चॉक्लेट, दूध इत्यादि) से एलर्जी होती हैपानी, आंखें लाल पड़ना।

पूरे शरीर की एलर्जी – पूरे शरीर में गंभीर लक्षण काफी गंभीर असर करते हैं. तुरंत हॉस्पिटल जाना पड़ता है।

एलर्जी से बचाव (Allergy prevention & Treatment)

  • घर के आस पास साफ़ रखें। घर में खुली और ताज़ी हवा आने दें। और पढ़े- घर की हवा को साफ़ करने वाले पौधे
  • जिन खाद्य पदार्थ से एलर्जी है, उसे न खाएं।
  • ठंडे से गर्म और गर्म से ठन्डे वातावरण में तुरंत न जाएँ।
  • मुंह और नाक ढँक कर बाइक चलाएं, अच्छी क्वालिटी का चश्मा पहनें।
  • रज़ाई, तकिये के कवर, गद्दे और चादर बराबर (गर्म पानी से) साफ़ रखें।
  • अगर जानवरों से एलर्जी है, तो घर में ना रखें, लिविंग रूम से दूर रखें।
  • घर हमेशा साफ़ रखें, जाला न लगने दें।
  • धूल से एलर्जी है तो फेस मास्क पहनकर काम करें।

Allergy FAQs

सआभार : Jerath Path Labs & Allergy Testing Centre

4.9/5 - (153 votes)